LOGO CSIR
LOGO NEERI

सहयोगी

समझौता ज्ञापन/सहमति (राष्ट्रीय)
Sr.  No.  MoU/Agreement Between Date of  Signing  Purpose
1 संविदा सहमति दिल्ली जल बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के माध्यम से दिल्ली जल बोर्ड और सीएसआईआर-राष्ट्रीय पर्यावरणीय अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (नीरी), नागपुर 09.01.2014 परियोजना "दिल्ली में जल उपचार संयंत्रों में उपचारित जल और भूजल की गुणवत्ता की निगरानी" के कार्यान्वयन के लिए
2 सहमति सीएसआईआर-नीरी और आयुध कारखाना, अम्बाझरी, नागपुर 11.04.2014 आयुध कारखाना एस्टेट, नागपुर में तकनीकी-आर्थिक अपशिष्ट जल उपचार एवं पुनः उपयोग प्रणाली के प्रदर्शन के लिए
3 सहमति सीएसआईआर-नीरी आर मेसर्स इकोलोजिक टेक्निक (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड, नागपुर 24.04.2014 सीएसआईआर-एनईईआरई ने “फाईटोरिड” अपशिष्ट जल उपचार प्रक्रिया विकसित कर लिया है और इसपर पूरा अधिकार है और सम्पूर्ण बौद्धिक संपत्ति अधिकार है जबकि सीएसआईआर-नीरी ने ईएसटीपीएल के अनुरोध पर सहमत नियमों और शर्तों के अधीन जानिए कैसे (नो-हाउ) के उपयोग के लिए गैर-विशिष्ट अनुज्ञप्ति प्रदान करने की सहमति जताई है।
4 समझौता ज्ञापन सीएसआईआर-नीरी, नागपुर और भारतीय प्रोद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय, वाराणसी 31.05.2014 समस्त प्रासंगिक एवं पारस्परिक सहमत क्षेत्रों में शैक्षणिक एवं अनुसंधान सहयोग को बढ़ावा देने के लिए।
5 समझौता ज्ञापन सीएसआईआर-नीरी और विश्वेश्वर राष्ट्रीय प्रोद्योगिकी संस्थान (वीएनआईटी), नागपुर 03.06.2014 पारस्परिक रूप से सहमत क्षेत्रों में शैक्षणिक एवं अनुसंधान सहयोग स्थापित करने और बढ़ावा देने के लिए।
6 गोपनीयता सहमति सीएसआईआर-राष्ट्रीय पर्यावरणीय अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (नीरी), नागपुर और कर्मवीर दादासाहेब कन्नमवर अभियांत्रिकी महाविद्यालय, नागपुर के बीच सीएसआईआर-राष्ट्रीय पर्यावरणीय अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (नीरी), नागपुर और कर्मवीर दादासाहेब.... 07.07.2014 जहाँ सीएसआईआर-नीरी ने अपनी पर्यावरणीय सामग्री अनुसंधान एवं विकास कार्यक्रम के अधीन CO2, फ्लाई ऐश पर आधारित जिओलाइट (ऍफ़एजेड) के उपयोग से कैलसाइट उत्पत्ति की प्रक्रिया का विकास कर लिया है और एकस्वकृत प्राप्त किया है। केडीके इंजीनियरिंग महाविद्यालय कैलसाइट/ जिओलाइट/ औद्योगिक और कृषि अपशिष्टों को निम्न उत्पादों में परिवर्तित करने के लिए सीएसआईआर-नीरी के साथ सहयोग करना चाहता है:

i) सौर सीमेंट, मोर्टार और कंक्रीट
ii) लिखने की चाक जैसी संरचनाएं और कैलसाइट मिश्रित सामग्रियां
iii) जियो-पॉलीमर कंक्रीट
iv) हल्के वजन वाला सेलुलर कंक्रीट
v)v) अपशिष्टों और प्राकृतिक संसाधनों से सामग्रियों या मिश्रित सामग्रियों का निर्माण

7 गोपनीयता सहमति सीएसआईआर-राष्ट्रीय पर्यावरणीय अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (नीरी), नागपुर और श्रीनाथ इंजीनियरिंग, नागपुर, होराइजन फ्यूल सेल (भा) प्राइवेट लिमिटेड, नागपुर के सहयोग से 25.08.2014  जहाँ सीएसआईआर-नीरी ने सौर ऊर्जा से चलने वाली फोटो थर्मल ऊर्जा की प्रक्रिया और सामग्री का विकास कर लिया है। होराइजन निम्न उत्पादों के लिए सीएसआईआर-नीरी के साथ सहयोग करना चाहता है:

i) विसंक्रमण के लिए सौर ऑटोक्लेव के लिए प्लास्मोनिक सामग्रियां
ii) सौर ड्रायर और सौर थर्मल अनुप्रयोगों के लिए प्लास्मोनिक सामग्रियां
iii) वाष्प और हाइड्रोजन की उत्पत्ति के लिए प्लास्मोनिक सामग्रियों पर आधारित प्रणालियां और शक्ति उत्पन्न करने के लिए फ्यूल सेल के साथ इस्तेमाल करने की प्रणालियाँ

8 गोपनीयता सहमति सीएसआईआर-राष्ट्रीय पर्यावरणीय अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (नीरी), नागपुर और इरा कृषि तकनीक एवं अनुसंधान प्राइवेट लिमिटेड, एमआईडीसी, नागपुर 27.08.2014

 

जहाँ सीएसआईआर-नीरी ने अपनी पर्यावरणीय सामग्रियां अनुसंधान एवं विकास कार्यक्रम के अधीन चिटोसन-सीएनपी/चिटोसन-एमएनपी कम्पोजिट बनाने की प्रक्रिया का विकास कर लिया है और एकस्वकृत प्राप्त कर लिया है।

इरा कृषि तकनीक चिटोसन-सीएनपी/चिटोसन-एमएनपी को निम्न उत्पादों में परिवर्तित करने के लिए सीएसआईआर-नीरी के साथ सहयोग करना चाहता है:

i) खाद्य पैकेजिंग (जैसे कि मशरूम) पैकेजिंग (औद्योगिक स्तर पर) खाद्य सामग्रियों को लंबे समय तक ताज़ा रखने के लिए और उससे निकलने वाली CO2 को कैप्चर करने के लिए
ii) कीटाणुनाशक/ विसंक्रमण पाउच का विकास ताकि दूरस्थ/ भौगोलिक रूप से शख्त/ ग्रामीण क्षेत्रों में इसे एक तत्काल कीटाणुनाशक/ विसंक्रमण पाउच के रूप में इस्तेमाल किया जा सके
iii) यूवी फिल्म का विकास ताकि जालियों/ आवरण के रूप में यूवी घटाने के लिए इस्तेमाल किया जा सके
iv) शल्यक टांकों का विकास ताकि चोटों के उपचार में इसका उपयोग किया जा सके
v) चोटों की ड्रेसिंग के लिए बैंडेज का विकास

 
9 समझौता ज्ञापन सीएसआईआर-राष्ट्रीय पर्यावरणीय अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (नीरी), नागपुर और प्रबंधन प्रोद्योगिकी संस्थान, नागपुर 05.09.2014  शैक्षणिक एवं अनुसंधान सहयोग को बढ़ावा देने के लिए
10 समझौता ज्ञापन सीएसआईआर-राष्ट्रीय पर्यावरणीय अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (नीरी), नागपुर और भारतीय जन स्वास्थ्य संस्थान, गांधीनगर 05.09.2014

 

समस्त प्रासंगिक एवं पारस्परिक सहमत क्षेत्रों में शैक्षणिक एवं अनुसंधान सहयोग स्थापित करने के लिए।
11 सहमति ज्ञापन सीएसआईआर-राष्ट्रीय पर्यावरणीय अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (नीरी), नागपुर और जैव प्रोद्योगिकी विभाग, विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली 05.09.2014

 

यह समझौता ज्ञापन सहभागी अभिकरणों की भूमिका और जिम्मेदारियों, अनुवीक्षण एवं अन्य मामलों को परिभाषित करता है, जो निम्न परियोजना से संबंधित हैं, “बैक्टेरियल केराटिनेज का उत्पादन और सुधार एवं पंख अपशिष्ट प्रबंधन का प्रदर्शन केराटिन........
12 समझौता ज्ञापन सीएसआईआर-राष्ट्रीय पर्यावरणीय अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (नीरी), नागपुर और मदन मोहन मालवीय प्रोद्योगिकी विश्वविद्यालय, गोरखपुर 28.11.2014

 

शैक्षणिक एवं अनुसंधान सहयोग को बढ़ावा देने के लिए
13 गोपनीयता सहमति सीएसआईआर-राष्ट्रीय पर्यावरणीय अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (नीरी), नागपुर और रेकॉन ऊर्जा एवं दीर्घकालीन प्रोद्योगिकियां, नागपुर 12.12.2014

 

सीएसआईआर-नीरी ने सीएसआईआर-800 कार्यक्रम के अधीन बहु-ईंधन उन्नत रसोई चूल्हे का विकास किया है। अगली परीक्षण, क्षेत्र परिक्षा और प्रसारण के लिए रसोई चूल्हे की लगभग 100 प्रोटोटाइप (या अधिक) की रचना करने की आवश्यकता होगी। इन चूल्हों को.......