LOGO CSIR
LOGO NEERI

परिचय

म्युंसिपलसॉलिडवेस्ट प्रबंधन

राष्ट्रीय पर्यावरण इंजीनियरिंग अनुसंधान संस्थान (नीरी), गत चार दशकों से अधिक समय तक, बेहतर और वैज्ञानिक तरीके से ठोस अपशिष्ट प्रबंधन प्रथाओं के अनुसंधान और विकास में लगा हुआ हैं। हाल के वर्षों में ठोस कचरा प्रबंधन का प्राथमिक लक्ष्य ठोस कचरे की मात्रा तथा प्रकार से हटकर ठोस कचरे से पुन: उपयोग, रीसायकल, और ऊर्जा वसूली में केन्द्री‍त हो रहा है। अनुसंधान में समकालीन लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए यह अनुभाग नगर सॉलिडवेस्टमैनेजमेंट अनुसंधान के लिए महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है। तदनुसार, इस अनुभाग ने स्वच्छ भारत अभियान के लिए वैज्ञानिक और तकनीकी आवश्यकताओं की दिशा में अपने अनुसंधान को केन्द्रीत किया है।

म्युंसिपलसॉलिडवेस्ट प्रबंधनके निम्नलिखित डोमेन में अनुभागकी विशेषज्ञता और शोध क्षमताओं निम्नानुसार हैं:

  • व्यापक म्युंसिपलसॉलिडवेस्टप्रबंधन जिसमें विस्तृत लक्षण वर्णन, पूर्व उपचार, जैव-मिथिनेशन, थर्मल उपचार, अवशेष प्रबंधन, उत्पाद शुद्धि तथा उपयोग  सम्मिलित है।
  • म्युंसिपलसॉलिडवेस्ट एवं कृषि अवशेषों के लिए कुशल खाद तकनीक साथ ही उत्पाद के मूल्य में वृद्धि।
  • म्युंसिपलसॉलिडवेस्ट, खाद्य कचराएवंसब्जी के कचरा के पूर्व उपचार एवं बायोमेथनेशन के लिए अभिनव जैवरिएक्टर
  • शहर विशिष्ट के‍ लिए म्युंसिपलसॉलिडवेस्ट प्रबंधन योजना
  • जलवायु परिवर्तनसंबंधित मुद्दों जैसे कचरे के ढेर से मीथेन उत्सर्जन
  • म्युंसिपलसॉलिडवेस्ट प्रबंधन और प्रसंस्करण से संबंधित व्यवसायिक स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों
  • म्युंसिपलसॉलिडवेस्टप्रसंस्करण सुविधाओं का मूल्यांकन और पर्यावरण पर इसके  प्रभाव का आकलन
  • बफर ज़ोन की आवश्यकताओं एवं इसकी सिमाओं का वैज्ञानिक निर्धारण
  • प्रस्तावित म्युंसिपलसॉलिडवेस्टप्रसंस्करण संयंत्रों के लिए पर्यावरण प्रभाव आकलन (ईआईए) 

हानिकारक अपशिष्ट प्रबंधन:
      अनुभाग द्वारा हानिकारक अपशिष्ट प्रबंधन के क्षेत्र में अग्रणी काम कियागया है और स्थायी विकास के लिए समकालीन मुद्दों, विनियमों और हमेशा से ही औद्योगिक आवश्यकताओंकोशोध का केन्द्र रखा गया है। अनुभाग द्वारा किए गए शोध प्रयासों ने इन वर्षों में उद्योगों के सतत विकास को उत्प्रेरित किया है। हानिकारक अपशिष्ट प्रबंधन के विभिन्न पहलुओं तथा विकसित की गई विशेषज्ञता निम्नानुसार है:
 

  • प्रचलित नियमों के अनुसार हानिकारक अपशिष्ट लक्षण वर्णन
  • प्रक्रिया आधार पर अपशिष्ट न्यूनीकरण दृष्टिकोण
  • उन्नत रासायनिक उपचार प्रक्रियाओं द्वारा अपशिष्ट में कमी
  • पुन: उपयोग, रीसायकल, एवं प्रोसेसिंग
  • वैज्ञानिक निपटान, सुरक्षित लैंडफिल डिजाइन, एवं निगरानी
  • आम हानिकारक अपशिष्ट उपचार, भंडारण और निपटान की सुविधा (टीएसडीएफ) के लिए डिजाइनों, संशोधनों, प्रभावों का मूल्यांकन, सुरक्षा और प्रदर्शन मूल्यांकन का परीक्षण करना
  • दूषित साइटों के पुनर्निर्माण के लिए प्रोटोकॉल का विकास
  • अनुभाग द्वारा कई औद्योगिक संगठनों, बहुराष्ट्रीय कंपनियों, नियामक एजेंसियों और सरकारी क्षेत्र के लिए राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर महत्वपूर्ण परियोजनाओं को सफलतापूर्वक पूरा किया है।

अन्य योगदान:

   यह अनुभाग सक्रिय रूप से नीतिगत मुद्दों, विनियामक ढांचों, और सामाजिक जरूरतों को अपने शोध के माध्यम से संबोधित करता आया है साथ ही विभिन्न राज्य स्तरों तथा राष्ट्रीय स्तरों के सलाहकार समितियों में भागीदारी के माध्यम द्वारा सक्रिय रूप से अपनी उपस्थिति दर्ज कराता रहा है। ई-कचरा प्रबंधन, ठोस अवशेषों से हाइड्रोजन उत्पादन बायोरेक्टेक्टरलैंडफिलऔर ग्रामीण क्षेत्रों के लिए विशेष रूप से बायोमेथेनेशन और खाद,म्युंसिपल ठोस प्रबंधन के प्रदर्शन हेतु नए शोध की पहल की गई है।

इसके अलावा अनुभाग द्वारा राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालयों के सहयोग से डॉक्टरेट और पोस्ट ग्रेजुएट अनुसंधान कार्य के माध्यम से अपशिष्ट प्रबंधन में अकादमिक और अनुसंधान का समर्थन करता है। अनुभाग में विभिन्न देशों जैसे यूके, इटली, स्विटजरलैंड, दक्षिण कोरिया आदि देशों के अनुसंधान संगठनों के साथ अंतरराष्ट्रीय अनुसंधान सहयोग है।

परियोजना

 

बारहवीं पंचवर्षीय योजना सुप्रा संस्थागत परियोजना अपशिष्ट से जैव ईंधन (डब्ल्यू 2 बी)

क्लोजरप्लान के विकास के लिए अगरतला में हापानिया डंपसाइट में प्री-क्लोजर स्टडीज
 

धर्मशाला, सुंदरनगर, मंडी और शिमला के लिए डंपिंगसाइट्स से म्युंसिपलके ठोस अपशिष्ट की लक्षण वर्णन

भारत में कार्बनिक अपशिष्ट से ऊर्जा प्रणालियों का अनुकूलन

उत्तर गोवा में कालंगुट/ लिगाओ पर प्रस्तावित कॉमनम्यूंसिपलसॉलिडवेस्टमैनेजमेंट सुविधा (सीएमएसडब्ल्यूएमएफ) के लिए पर्यावरण प्रभाव आकलन (ईआईए) अध्ययन

दक्षिण गोवा में काकोरा में प्रस्तावित आम म्यूंसिपलसॉलिडवेस्टमैनेजमेंट सुविधा(सीएमएसडब्ल्यूएमएफ) के लिए पर्यावरण प्रभाव आकलन (ईआईए) अध्ययन

ग्रेटर मुंबई महानगर निगम (एमसीजीएम), मुंबई क्षेत्र में म्युंसिपलसॉलिडवेस्ट के मात्रा निर्धारणऔर विशेषता पर अध्ययन
 

एनटीपीसी, मौदामें जैविक अपशिष्ट उपचार तथा उपहारगृह के अपशिष्टका निपटान प्रणाली एवं डोमेस्ट‍िकरिफ्युजजनरटेड

 

हिमाचल यूनिलीवर लिमिटेड फॅक्टरी(एचयूएल), कोडाईकनाल की पंबर नदी और कोडाई झील से मिट्टी, तलछट, बार्क, लिसन और मोस और मछली के नमूनों में पारा के स्तर का आकलन

जारोसिट के विभिन्न अनुप्रयोगों के लिए उपयोग पर खोजी अध्ययन

एमआईडीसी, बुटीबोरी, नागपुर में प्रस्तावित एसिडरिकवरी प्लांट का (एआरपी) तकनीकी मूल्यांकन

मैसूर के केरल मिनरल्स एंड मेटल्सलिमिटेड, चवरा, कोल्लम के लिए पर्यावरण प्रबंधन योजना के औद्योगिक स्थल और परिदृश्य में पर्यावरण प्रदूषण स्थिति की निगरानी और आकलन

मैसर्स ज़ुआरीएग्रो केमिकल लिमिटेड, गोवा में आर्सेनिक और क्रोमियम की खतरनाक अपशिष्ट की निसंचालन (इममोबलायजेशन) और रोकथाम

मैसर्स रियोटिंटोएक्सपोजरेशनइंडिया लिमिटेड की प्रस्तावित बंडरडायमंडप्रोजेक्ट से उत्पन्न तपेदिक लैंप्रोइटअयस्क की पर्यावरण रूप से संपूर्ण प्रबंधन

 

 

पूर्ण हुई परियोजना

 

पहाड़ी इलाकों में म्युंसिपलसॉलिडवेस्ट के प्रसंस्करण और निपटान पर अध्ययन

एमएमआर में म्युंसिपलसॉलिडवेस्टमैनेजमेंट के लिए क्षेत्रीय लैंडफिल सुविधाओं के विकास हेतु ठोस अपशिष्ट विशेषता आकलन
 

पिंपरी-चिंचवाड़ नगर निगम (पी.सी.एम.सी.) की विद्यमान म्युंसिपलसॉलिडवेस्टप्रोसेसिंगसाइट्स के संदर्भ में पर्यावरणीय रुप से ठोस सॉलिडवेस्टम्युंसिपलसॉलिडवेस्ट(एमएसडब्ल्यू) प्रसंस्करण रणनीति के विकास के लिए अध्ययन
सार्वजनिक स्वास्थ्य के खतरों को कम करने के लिए निवारक उपायों का विकास करना

लैंडफिलसाइट्स के आसपास भूजल गुणवत्ता का आकलन

म्युंसिपलसॉलिडवेस्ट प्रबंधन प्रथाओं और ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन पर डेटाबेस का विकास

बाईंगुइनीम गांव, गोवा में म्युंसिपलसॉलिडवेस्टप्रसंस्करण सुविधा की स्थापना केलिए व्यापक वैज्ञानिक और तकनीकी सेवाएं प्रदान करना

ऐजोलसिटी के लिएके मात्रा निर्धारणऔर विशेषता

वर्ष 2010 के लिए म्युंसिपलसॉलिडवेस्टलैंडफीलसाइट से मिथेन उत्सर्जन की गणना

झारसुगुडा क्षेत्र, उड़ीसा के लिए कॅरींगकॅपेसीटी की गणना

उड़ीसा में लौह खानों कीकॅरींगकॅपेसीटी की

 

गोवा में लौह खानों की कॅरींगकॅपेसीटी की गणना

बायोमिथिनेशन ऑफ लिग्नोसेल्युलोसिकरेसिडयुज- राईसस्ट्रॉ

एमएमआर में म्युंसिपलसॉलिडवेस्टमैनेजमेंट की क्षेत्रीय भूमिगत सुविधाओं के विकास के लिए पर्यावरण प्रभाव आकलन

भरुचएनविरोइंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड की अनारलेश्वर, गुजरात की टीएसडीएफ सुविधा में पोस्ट इमपॅक्ट फायर हर्जाडका आकलन

मैसर्स यूनियन कार्बाइड इंडिया लिमिटेड (यूसीआईएल), भोपाल में और उसके आसपास खतरनाक अपशिष्ट दूषितइलाकों के उपचार का आकलन

चेन्नई पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड, चेन्नई में ठोस अपशिष्ट उत्पादन का व्यापक ऑडिट
 

स्टॉकहोम कन्वेंशन (यूएनआईडीओ) के तहत लगातार कार्बनिक प्रदूषक (पीओपी) पर राष्ट्रीय कार्यान्वयन योजना के विकास के तहत अपशिष्ट और दूषित साइटों के संबंध में उपाय
 

1995-2007 की अवधि के लिए भारत में ग्रीनहाउस गैसोंके उत्सर्जन की सूची के लिए अमोनिया उत्पादन में कारक का निर्धारण
 

अतिरिक्त अमरावती औद्योगिक क्षेत्र में प्रस्तावित केंद्रीय एफ्लुएंटट्रिटमेंट प्लांट(सीईटीपी) का तकनीकी मूल्यांकन

मैसर्स भारतीय रिजर्व बैंक नोट मुद्रण प्राइवेट लिमिटेड नोट मुद्रण नगर, मैसूरमें इंकस्लजके पर्यावरणीय रूप से अनुकूल  प्रबंधन,

विशाखापट्टनम में विशाखा पोर्ट ट्रस्ट, एचपीसीएल और हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड के लिए पर्यावरण प्रदूषण अध्ययन कातत्काल आकलन
 

वर्ष 2010 के लिए भारत में अमोनिया उत्पादन में ग्रीनहाउस गैसों की सूची

हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड, कोडाईकनाल में पारासंदूषितसाइट का उपचार

मेसर्ससेसा गोवा लिमिटेड के ओरासोडोंगर लौह अयस्क खान में ओवरबर्डडंप के हटाने और पुनर्वास पर अध्ययन

रैलिस इंडिया लिमिटेड, पैंटेचेंरु के सौर वाष्पीकरण तालाब क्षेत्र का आकलन और उपाय

पारादीपफॉस्फेट्स लिमिटेड में ठोस और खतरनाक कचरे का पर्यावरण प्रबंधन

हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड चंदेरिया के लिए रोड तैयार करने में जारोफ़िक अपशिष्ट उपयोग करने हेतु  पर्यावरणीय व्यवहार्यता,

सतत अपशिष्ट पुनर्चक्रण/अप्रत्यक्ष प्रायोलिसिसप्रौद्योगिकी का मूल्यांकन

मैसर्स कोहलमेंइंडिया कॉर्प लिमिटेड, झगड़ीडिया में ईटीपीस्लज का पर्यावरणीय अनुकूल प्रबंधन

मैसर्स कोहलर इंडिया कॉर्प प्राइवेट लिमिटेड, झगड़िया (युनिट-2) में अपशिष्ट प्रबंधन

 

मैसर्स जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड, रायगढ़ के लिए मिट्टी के लचीलेपन के लक्षणों का आकलन

एचजेडएल के जवाहर खान में डिस्कार्डसाइनाइडकंटेनर के डिकंटॅमिनेशन के दौरान एचसीएन के उत्सर्जन पर अध्ययन

रेशमिकामिनरल्स एंड केमिकल्स प्राइवेट में लिमिटेड ठोस अपशि‍ष्ट का पर्यावरणीय अनुकूल प्रबंधन

मैसर्स आइडियलरियलएस्टेट्स प्राइवेट लिमिटेड, न्यूअलीपुर, कोलकाता की प्रस्तावित साइट पर भूमिगत संदूषण का आकलन।

वेस्ट एंड एफ्लुएंटमॅनेजमेंट कंपनी लिमिटेड, वापीमें एचडब्लूएसएसटीएफएफ के विस्तार के लिए कंसल्टेंसीसर्विसेज

अंतरराष्ट्रीय प्रकाशन

 

रीसर्चजर्नल ऑफ केमिस्ट्री एंड एनवायरोमेंट"(रीसर्चजर्नल ऑफ केमिस्ट्री एंड एनवायरोमेंट)
(बोडखे, एस.वाई. (2015) "बायोगैसजनरेशनफॉर लो स्ट्रेंथडोमेस्टिकवेस्टवॉटरबाय युजिंगपारशियलीफेज्डएनेरोबिकप्रोसेस", वॉल्यूम 19, नं 9, पीपी। 11-15, 2015)

टॉक्जीकइफेक्ट ऑफ हेक्सावलेंटक्रोमियमऑनकंपोस्टींग ऑफ सेगरेटेडवेस्ट (इंटरनॅशनलक्वॉटरलीजर्नल ऑफ लाइफसाइंसेज)
(एस.यू. पतकी, एस.पी.एम. पी. विलियम, एस.वाई. बोडखे, ए.एन. वैद्य, खंड 3, पीपी 651-658, 2011)
 

रीकवरी ऑफ ‘P’ एंड ‘Al’  फ्रॉमसीवेजस्लजऍश बाय ए न्युवेट केमिकल इल्युशनप्रोसेस(एसईएसएएल-फोस-रिकवरीप्रोसेस) (वॉटरसायंस एंड टेक्नोलॉजी) (एस पेटज़ेट, बीपेप्लिंस्की, एस वाईबोडखे और पी कॉर्नेल, 64(3), पीपी.693-69 9, 2011)

कंपलीटरीसायकलबायोरीऍक्टरफॉरएनॉरॉबीकडायजेशन ऑफ ऑरगॅनिकसबस्ट्रेटस: फुडवेस्ट (जर्नल ऑफ केमिकल एंड इनवायरोमेंटलरीसर्च)
(बोडे, एसवाई और वैद्य, ए एन, वॉल्यूम 16 (2), पीपी.27-32, 2012)
 

बायोगॅसजनरेशनफ्रॉमलो स्ट्रेन्थडोमेस्टीकवेस्टवॉटर बाय युजिंगपारशियलीफेज्डएनरोबिकप्रोसेस (रीसर्चजर्नल ऑफ केमिस्ट्री एंड एनवायरोमेंट)

ग्रीन वेस्टऍज ए रीसोर्सफॉरवैल्यूएडेडप्रोडक्टसजनरेशन (इंटरनॅशनलजर्नल ऑफ रिसेंटट्रेंडस इन सायंस एंड टेक्नॉलॉजी) (विवेक पी। भांगे, एसपीएम, प्रिंसविलियम, ए.एन. वैद्य, ए.आर. चोकण्डेरे (2012), वॉल्यूम 4, अंक 1, (ओपन एक्सेस- आईएसएसएन2277-2812 -आईएसएसएन2249-810 9), 2012)

व्हाई  एंड  हाउएरोबिक -मेसोफिलिककम्पोस्टिंगइजइफेक्टिव? ए  कम्प्रेहैन्सिवस्टडीऑनएरोबिक  एंड  एनारोबिककम्पोस्टिंग ऑफ ग्रीन वेस्ट अंडर मेसोफिलिक  एंड  थर्मोफिलिककंडीशंस

(इंटरनॅशनलजर्नल ऑफ रिसेंटट्रेंडस इन सायंस एंड टेक्नॉलॉजी) (डी। आनंद, वी। वीराकुमार, जगदीशजीभाने, एसपीएम, प्रिंसविलियम, प्रिया भिल्ला,अनवयाय, एमपीपेटिल, जेके भट्टाचार्य और एसआर-वाटे(2012), खंड 5, अंक 1 (ओपन एसेनआईएसएसएन2277-2812 -आईएसएसएन2249- 810 9,), 2012)

टॉक्सिकइफ़ेक्टऑफ़हेक्सावालेन्टक्रोमियमऑनकम्पोस्टिंगऑफ़सेग्रीगेटेडआर्गेनिकवेेस्ट . ( एस. यु. पत्कीएसपीएम.प्रिंसविलियम, स.य.बोडखे  एंड  वैद्य ). , वॉल  3; 651-658- , 2010 )

इन्फ्लुएंसऑफ़हीटिंगसोर्सऑन  द एफ्फीशि‍यंसीऑफ़लिग्नोकेलुलोसिसप्री-ट्रीटमेंट  - ए सल्लुलोसिसइथेनॉलपर्सपेक्टिव . ( बायोमास  एंड बायोएनेर्जी  )

(जगदीश गभणे.,  एसपीएम.प्रिंसविलियम. अतुल नारायण वैद्य., कल्याणीमहापात्र, एंडतपन चक्रबर्ती., 35 96-102- आई.एफ.394), 2011 )

अद्दितीवसएडिडकम्पोस्टिंगऑफ़  ग्रीन  वेस्ट : इफेक्ट्सऑनआर्गेनिकमॅटरडिग्रडेशन, कम्पोस्टमॅट्युरीटी एंड  क्वालिटीऑफ़  द  फिनिश्डकम्पोस्ट ( बायोरिसोर्सटेक्नोलॉजी )

( जगदीश गभणे, एसपीएम .प्रिंसविलियम, रजनीकांतबिद्याधर, प्रिय भिलावे, दुरैसम्य आनंद , अतुल  एन. वैद्य , सतीशआरवटे . , 114 382-388- (आईएफ=4.49) , 2012 )

फेक्ट्स  ऑफ  एन्ज़ीमाटिकहाइड्रोलिसिस  एंड  अल्ट्रास्ट्रक्टरलचंगेस  ( जर्नलऑफ़एनवायर्नमेंटलहेल्थसाइंस  एंड  इंजीनियरिंग ) (जगदीशगाभाने, एसपीएम .प्रिंसविलियम,  वैद्य , ए.एन. ; आनंद , डी . ; वटे, एस., “प्रेट्रीटमेंटऑफ़गार्डनबायोमासबीअल्कलीअसिस्टेडउल्ट्रासॉनिकेशन : , वॉल्यूम  12,-(आईएफ =1.65) , 2014 )

 

परेटरीटमेंटऑफ़  बनाना  एग्रीकल्चरलवेस्टफॉरबायोइथेनॉलप्रोडक्शन : इंडिविजुअल  एंड  इंटरैक्टिवइफेक्ट्सऑफ़एसिड  एंड  अल्कलीप्रेट्रीटमेंट्सविथऑटोक्लाविंग, माइक्रोवेवहीटिंग  एंड  अल्ट्रासोनिकेशन . ( वेस्टमैनेजमेंट )

( जगदीश गभणे, एसपीएमप्रिंसविलियम, अभिजीत गधे , रितिका रथ , अतुल  एन् . Vaidya, सतीश .आर.वटे . , वॉल्यूम  34- 498-503 आईएफ  =3.22) , 2014 )

प्रीट्रीटमेंटऑफ़गार्डनबायोमासुसिंगफेंटों'स  रीगेंट : इन्फ्लुएंसof Fe2+ and H2O2 कंसन्ट्रेशन्सऑनलिग्नाईलुलोसेसडिग्रडेशन  ( जर्नलऑफ़एनवायर्नमेंटलहेल्थसाइंसand इंजीनियरिंग )

( भंगे, वी.पी; विलियम, स.प.म.प . ; शर्मा , A. ; गभणे, J. ; वैद्य , A.N.; Wate, S.R , Volume 13(IF=1.65) , 2015 )

 

प्रशिक्षण कार्यक्रम

नीरी, नागपुर में दिसंबर, 26-30, 2005 के बीच नगरपालिका ठोस अपशिष्ट प्रबंधन पर सीपीसीबी द्वारा प्रायोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। नगरपालिका ठोस अपशिष्ट पर राष्ट्रीय कार्यशाला 18-19, 2006

उपलब्धियां

यूरियाप्रोडक्शनप्लांट्स से निकलते आर्सेनिकसॉल्यूशन के पर्यावरणीय रूप से संपूर्ण निपटान

  • सुरक्षित भूमि भरण के पश्चात स्थाईकरण और सिकुड़न प्रक्रिया के आधार पर उपयुक्त तकनीक का विकास,
  • मैसर्स ज़ुआरीएग्रोटेक कंपनी लिमिटेड, गोवा में 300 मेट्रीकस्पेंटआर्सेनिकसोल्युशन का सुरक्षित निपटान
  • इस तकनीक के लिए यूएस पेटेंट  पुरस्कार

भारत में 59 शहरों के लिए म्यूनिसिपल सॉलिड वेस्ट विशेषताओं और प्रबंधन प्रणालियों के डेटाबेस का विकास

  • महानगरों और सभी राज्य की राजधानियों सहित भारत में 59 शहरों के लिए बेस लाइन डेटा
  • विस्तृत म्यूसिपल सॉलिड वेस्ट विशेषताओं और मौजूदा म्यूसिपल सॉलिड वेस्ट प्रबंधन सिस्टम शामिल हैं
  • सबसे व्यापक रूप से संदर्भित रिपोर्ट

म्यून्स्पिपल सॉलिड वेस्ट प्रसंस्करण साइटों के लिए बफर ज़ोन के निर्धारण के लिए पद्धति का विकास
 

  • साइट विशिष्ट विवरण, निगरानी और गणितीय मॉडलिंग के आधार पर कार्यप्रणाली
  • पिंपरी-चिंचवाड़ नगर निगम (पीसीएमसी) के म्यूनिसिपल सॉलिड वेस्ट डिपो पर सफलतापूर्वक उपयोग में लाया गया।
  • भूमि की कमी के कारण सभी शहरों के लिए उपयोगी

कार्बनिक अवशेषों के लिए रैपिड कम्पोस्टिंग तकनीक का विकास
 

  • तकनीक का उपयोग करना आसान है जिसे अकुशल व्यक्तियों द्वारा भी इस्तेमाल किया जा सकता है
  • सामान्य कंपोस्टींग के समय में 60% की कमी होती है
  • ग्रामीण विकास कार्यक्रमों, स्मार्ट शहरों और गांवों के लिए उपयोगी

 

म्यूनिसिपल सॉलिडवेस्टऔर खतरनाक अपशिष्ट प्रबंधन पर राष्ट्रीय नीतियों और कार्यक्रमों में योगदान
 

दूषित स्थलों के उपचार पर राष्ट्रीय समितियोंमें योगदान
 

वैज्ञानिक म्यूनिसिपल सॉलिडवेस्टप्रबंधन के लिए राज्य और शहरी स्थानीय निकायों में मानव संसाधन विकास का योगदान